-कमलेश भारतीय

यह ईडी भी कमाल है । आजकल इसी की चर्चा है और नेता इससे बचने की कोशिश में रहते हैं । क्या पता, किसका नम्बर आ जाये ! चाहे मनीष सिसोदिया हों या अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों ईडी की कृपा से जेल में हैं ।

मनीष सिसोदिया का तो इस्तीफा ले लिया था लेकिन खुद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद से अभी तक इस्तीफा नहीं दिया और जेल से ही सरकार चला रहे हैं । भाजपा कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन कर इस्तीफे की मांग कर ली लेकिन केजरीवाल टस से मस नहीं हुए । ईडी की लपेट में आने से बचने के लिए कुछ नेताओ ने समय रहते एहतियात बरत कर समझदारी दिखाई और चैन की नींद सो रहे हैं । ‌एक अपने हिसार के दोहिते रहे अरविंद केजरीवाल, जो जेल में तो बंद हैं , अपने मन का खाना भी नही खा सकते । इनके खाने पर भी ईडी की नज़र है भैया ! ईडी का आरोप है कि केजरीवाल जानबूझकर कर मीठा खा रहे हैं ताकि उनका शूगर लेवल बढ़ जाये और वे मेडिकल ग्राउंड के आधार पर जमानत लेकर जेल से बाहर आ सकें । इसके जवाब में इनके वकील व कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी का कोर्ट में पक्ष यह है कि क्या केजरीवाल जमानत के लिए पैरालिसिस अटैक का जोखिम उठायेंगे ?

सिंघवी ने बताया कि केजरीवाल के घर से 48 बार भोजन आया और तीन बार आम आये थे । आठ अप्रैल के बाद से आम नहीं आये । सिघंवी ने ईडी के वकील के अदालत में पेश होने का भी विरोध करते कहा कि यह मामला जेल, कोर्ट और मेरे मुवक्किल के बीच का है । आप प्रेस कांफ्रेंस कर कह रहे हैं कि यह आदमी यानी केजरीवाल आम खा रहा है ! आम आदमी क्या खायेंगे ? आम या मशरूम ? ईडी ने केजरीवाल के आरोपों को गलत बताया ! अभी केजरीवाल को राहत मिलने की उम्मीद कम ही लगती है लेकिन यह भी मज़ेदार बात है कि ईडी इनकी जेल से बाहर आने की कोशिशों पर भी नज़रें रखे हुए है। इससे पहले जेल में इसी तरह कांग्रेस नेता पी चिदंबरम पर भी पूरी नज़र रखी गयी थी और उनके जेल में आने वाले खाने की भी खूब चर्चा रही थी । ये मेहरबानियां भी किसी किसी खुशनसीब के हिस्से में ही आती हैं और केजरीवाल के नाम यह कीर्तिमान भी तो बना दिया कि स्वतंत्र भारत के केजरीवाल ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं, जो पद पर रहते जेल गये । ‌छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन यह कीर्तिमान बनाते बनते रह गये थे । उन्होंने गिरफ्तार होने से पहले ही मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था ।

कीर्तिमान भी किसी किसी के बनने हैं । पर ईडी का केजरीवाल के खाने पर निगाह रखना यह बहुत चौंकाने वाली बात है ! वैसे तो ईडी खाये गये पैसे के आरोप से लेकर खाने तक नज़र रख रही है ! अब तो आरोप नहीं, ईडी का कहना है कि केजरीवाल ही मास्टरमाइंड थे और इसी कारण जेल मैं हैं ! चलिए, हम केजरीवाल की सेहत की दुआ करते हैं और ईडी को भी सन्मति देने की दुआ करते हैं ! कुछ तो मनचाहा खा लेने दो !

सबको सन्मति और सेहत दे भगवान् !
-पूर्व उपाध्यक्ष, हरियाणा ग्रंथ अकादमी। 9416047075