गुरुग्राम : 21 अप्रैल 2024 – दिनांक 21.12.2023 को विटजील टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के पदाधिकारी ने पुलिस थाना साईबर अपराध दक्षिण गुरुग्राम में एक लिखित शिकायत दिनांक 16.12.2023 से 19.12.2023 के बीच इनकी कंपनी के खाते से धोखाधड़ी से लगभग 06 करोड़ 14 लाख रुपए निकालने के संबंध में दी गई। इस शिकायत पर थाना साईबर अपराध दक्षिण, गुरुग्राम में संबंधित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

श्री प्रियांशु दिवान HPS, सहायक पुलिस आयुक्त साईबर अपराध, गुरुग्राम के निर्देशानुसार कार्य करते हुए निरीक्षक मनीष कुमार, प्रबंधक थाना साईबर अपराध दक्षिण, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने कार्यवाही करते हुए उपरोक्त अभियोग में एक और आरोपी को कल दिनांक 19.04.2024 को मुंबई एयरपोर्ट से काबू करके पूछताछ करने उपरांत अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया। आरोपी की पहचान हरमीत सिंह मलिक निवासी आनंद विहार, दिल्ली के रूप में हुई। पुलिस थाना साईबर अपराध दक्षिण, गुरुग्राम की पुलिस टीम द्वारा उपरोक्त आरोपी के विरुद्ध लुक आउट सर्कुलर भी जारी करवाया गया था।

अंदेशा था की उपरोक्त आरोपी देश से बाहर है या देश छोड़कर भाग सकता है। इसलिए तुरंत कार्यवाही करते हुए गुरुग्राम पुलिस द्वारा आरोपी के विरुद्ध LOOK OUT CIRCULAR जारी करा दिया गया। इसी LOOK OUT CIRCULAR के आधार पर आरोपी को मुंबई एयरपोर्ट से पकड़ा गया जब वह देश छोड़कर भागने वाला था। अभी तक के अनुसंधान में आरोपी पर हवाला का कारोबार करने और पैसे को crypto currency के माध्यम से देश से बाहर मंगाने के आरोप है। आरोपी लंबे समय से हवाला का कारोबार कर रहा है। LOOK OUT CIRCULAR किसी पुलिस एजेंसी द्वारा तब जारी करवाया जाता है जबकि आरोपी देश छोड़कर भाग सकता है या किसी दूसरे देश से वापस भारत आ सकता है, और उसे लैंड पोर्ट, सी पोर्ट या एयरपोर्ट पर गिरफ्तार करना हो।

आरोपी से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उपरोक्त अभियोग में आरोपी मुख्य सरगना है और इसके द्वारा और ऐसे अन्य अपराध किए गए हो इससे इंकार नहीं किया जा सकता। इससे पहले पुलिस टीम द्वारा उपरोक्त अभियोग में 05 आरोपियों शांतनु आनंद, कार्तिक शर्मा, तरुण कुमार डूडेजा, राकेश शर्मा व यश शर्मा को पहले ही गिरफ्तार किया गया था।

आगामी पूछताछ व बरामदगी के लिए आरोपी को माननीय न्यायालय में पेश करके 02 दिन के पुलिस हिरासत रिमांड पर लिया गया है। अभियोग अनुसंधानाधीन है।