पटौदी जाटोली मंडी नगर परिषद में पेयजल आपूर्ति का नहीं समय निश्चित

विभाग के द्वारा प्रतिदिन बताया जा रहा पेयजल  आपूर्ति का टाइम टेबल

टैंकर से जरूर का पानी लेने के लिए मजबूर हो रही है जनता

फतह सिंह उजाला 

पटौदी । जब तक पटौदी और हेली मंडी क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति के लिए ट्यूबवेल की व्यवस्था विभिन्न वार्डों में की गई थी, उस समय तक पीने के पानी के लिए लोगों को किसी प्रकार की शिकायत नहीं थी। जब से नहरी पानी  आधारित पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की गई है, उसके बाद से पटौदी  हेली मंडी जाटोली मंडी और टोडापुर इलाके में पानी की समस्या का सामना लोगों को समय-समय पर करना पड़ रहा है। हरियाणा में भाजपा वन सरकार के कार्यकाल में बादली से पटौदी क्षेत्र के दोनों नगर पालिका इलाके में पानी की आपूर्ति की व्यवस्था करते हुए इसका उद्घाटन भी पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा किया गया । नहरी पानी आधारित पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था आरंभ होने के उपरांत जिला पूर्ति एवं संस्था विभाग के द्वारा धीरे-धीरे शहरी क्षेत्र के सभी ट्यूबवेल अथवा नलकूप बंद कर दिए गए। बीच में कई बार ऐसा भी हुआ है जब नहरी पानी की आपूर्ति किन्हीं कारण से नहीं हो सकी और पटौदी क्षेत्र की दोनों नगर पालिका के लोगों को पानी का गंभीर संकट कभी सामना करना पड़ा।

गर्मियां आरंभ होते ही लगातार बढ़ते तापमान के बीच अब पटौदी जाटोली मंडी नगर परिषद कहे जाने वाले क्षेत्र में पीने के पानी का संकट आम जनता को झेलने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। जिला पूर्ति एवं अभियांत्रिकी विभाग के द्वारा प्रतिदिन पेयजल आपूर्ति के लिए सुबह और शाम दोनों समय पर टाइम टेबल घोषित करके पानी आपूर्ति के लिए बताया जा रहा है। यह समय शाम को 7:00 बजे से लेकर रात के 11:00 बजे तक  पानी आपूर्ति के लिए बताया जा रहा है । गर्मी के मौसम में वैसे भी आम जनमानस को पानी की अधिक जरूरत होती है। दूसरी तरफ पालतू जानवरों को भी पानी की जरूरत से नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है । पिछले कुछ दिनों से बिजली की घोषित कटौती का सिलसिला भी बना हुआ है । जब पानी आपूर्ति का समय होता है, कई बार उसे समय बिजली गायब हो जाती है और जब बिजली होती है, तब पानी आपूर्ति का समय नहीं होता है । सीधे और सरल शब्दों में पुराने पटौदी नगर पालिका इलाके और हेली मंडी नगर पालिका इलाके के विभिन्न वार्डों में पीने के पानी की समस्या लगातार बढ़ती चली जा रही है।

भरी दोपहरी में महिलाओं को भी टैंकर से घरेलू कामकाज या फिर रसोई के लिए पानी लेने को मजबूर होना पड़ रहा है । एक तरफ विभाग के द्वारा आश्वासन दिया गया है कि पुराने ट्यूबवेल अथवा नलकूप की जांच करवा कर उनको आरंभ करवाया जाएगा । कितने नलकूप चालू करवाए जाएंगे और कितना समय लगेगा? यह अभी भी रहस्य ही बना हुआ है । महिला वर्ग में इस बात को लेकर गुस्सा अथवा नाराजगी बनी हुई है कि रात को 11:00 बजे पानी की आपूर्ति होगी, तो जरूर का पानी भरने में कितना समय और लगेगा । क्षेत्र के लोगों की मांग है कि पटौदी जाटोली मंडी नगर परिषद इलाके में पीने के पानी की आपूर्ति का समय निश्चित करते हुए लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध करवाया जाए।