• Wed. May 18th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

दूरदर्शन के पूर्व समाचार निदेशक अजीत सिंह

  • Home
  • प्यार और कुर्बानी के इलावा मां के मसलों को भी याद करें – वानप्रस्थ

प्यार और कुर्बानी के इलावा मां के मसलों को भी याद करें – वानप्रस्थ

अजीत सिंह हिसार। मई 9. – मैं सीता नहीं बनूंगी, किसी को अपनी पवित्रता का प्रमाण पत्र नहीं दूंगी , आग पर चल कर….. मैं राधा नहीं बनूंगी, किसी की…

लता को श्रद्धांजलि उन्ही के गीतों से, वानप्रस्थ में कार्यक्रम

अजीत सिंह हिसार. 7 फरवरी। मुंबई में जब लता मंगेशकर के अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही थी, तो हिसार में वरिष्ठ नागरिकों की संस्था वानप्रस्थ द्वारा उन्हें उन्ही के…

27 साल पहले 26 जनवरी की यादें, जम्मू में फटे थे तीन बम; 8 नागरिकों की मृत्यु, राज्यपाल बाल बाल बचे थे।

अजीत सिंह वर्ष 1995 में जम्मू के मौलाना आज़ाद स्टेडियम में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल, जनरल केवी कृष्णराव को मारने के उद्देश्य से आतंकवादियों द्वारा…

‘याद गली से….’ …आकाशवाणी जम्मू की क्षेत्रीय समाचार इकाई के 50 साल।

……. लेखक अजीत सिंह वर्तमान में हिसार के रहने वाले हैं । वह 2006 में दूरदर्शन केंद्र हिसार के समाचार निदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुए । वह अब एक…

खुश रहना है तो नेमतें गिनिए, मुसीबतें नहीं।

….लेखक अजीत सिंह हिसार के स्वतंत्र पत्रकार हैं । उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो व दूरदर्शन में कई वर्षों तक काम किया । अजीत सिंह स्वतंत्रता की पूर्व संध्या पर जन्म…

‘देखो रूठा ना करो, बात मित्रों की सुनो……’

अजीत सिंह रूठना, मनाना और मान जाना मानवीय व्यव्हार की कुछ अजीब सी मानसिक क्रियाएं हैं। इनका चलन यूं तो आदि काल से देखा जा सकता है पर स्मार्टफोन और…

आप मुझे प्रेमचंद का साहित्यिक पुत्र कह सकते हैं: कमलेश भारतीय

इंटरव्यूअर कमलेश भारतीय का इंटरव्यू, वानप्रस्थ की गोष्ठी में। इस बेविनार की विस्तृत रिपोर्ट अजीत सिंह की कलम से जाने माने कथाकार व हरियाणा ग्रंथ अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष कमलेश…