• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

साहित्य

  • Home
  • अध्यापक दिवस पर विशेष………… पिता की अभिलाषा

अध्यापक दिवस पर विशेष………… पिता की अभिलाषा

मूल लेखक अब्राहम लिंकन……….. अनुवादक अजीत सिंह, पूर्व समाचार निदेशक, दूरदर्शन हिसार।   एक पिता जब अपने पुत्र को स्कूल में दाखिल करने जाता है तो वह कामना करता है…

जब रिश्ते हैं टूटते, होते विफल विधान।
गुरुवर तब सम्बल बने, होते बड़े महान।।

बच्चों के विकास में, शिक्षकों की आदर्श भूमिका सही मूल्यों और गुणों के प्रवर्तक और प्रेरक की होनी चाहिए। इस प्रकार, छात्रों को ज्ञान सीधे चम्मच खिलाने के बजाय, उन्हें…

सोनाली फौगाट की चिट्ठी

–कमलेश भारतीय मैं सोनाली फौगाट बोल रही हूं । आप पूछेंगे कहां से ? अभी तो मुझे भी नहीं पता कि स्वर्ग से या कहां से लेकिन इस जहान से…

भारतीय संस्कृति के संवाहक, शिक्षाविद डां राधाकृष्णन

5 सितंबर, शिक्षक दिवस विशेषालेख हेमेन्द्र क्षीरसागर………………विचारक व स्तंभकार तमिलनाडु के तिरुतनी गॉव में 5 सितंबर 1888 को साधारण परिवार में जन्में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन शिक्षा को सामाजिक, आर्थिक और…

बच्चों को उनकी मातृभाषा में पढ़ाने की जरूरत

दुनिया में बोली जाने वाली प्रत्येक भाषा एक विशेष संस्कृति, माधुर्य, रंग का प्रतिनिधित्व करती है और एक संपत्ति है। कई मनोवैज्ञानिक, सामाजिक और शैक्षिक प्रयोगों ने साबित किया कि…

आंदोलनों और विमर्शों से कुछ लोग चर्चित जरूर हुए

हरियाणा में साहित्य की बात बहुत ध्यान से सुनते हैं : नासिरा शर्मा -कमलेश भारतीय प्रसिद्ध लेखिका नासिरा शर्मा का कहना है कि चाहे कहानी आंदोलन रहे या फिर स्त्री…

लघु कथा ……… स्त्री

कमलेश भारतीय वह जार जार रोये जा रही थी और फोन पर ही अपने पति से झगड रही थी । बार बार एक ही बात पर अडी हुई थी कि…

लड़की के लिए माहौल हमेशा खतरनाक होता है : मैत्रेयी पुष्पा

–कमलेश भारतीय ‘अलमा कबूतरी’ व ‘चाक’ जैसे उपन्यासों से ‘विवादित व बदनाम’ लेखिका के रूप में बहुचर्चित मैत्रेयी पुष्पा ने कहा कि लड़की के लिए माहौल हमेशा ही खतरनाक होता…

हरियाणा के सत्यवान सौरभ का देश के सर्वश्रेष्ठ 125 लघुकथाकारों में चयन

राष्ट्रीय लघुकथा संग्रह ‘दमकते लम्हे’ के प्रकाशन पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी शुभकामनाएं. भिवानी – संपर्क संस्थान जयपुर के द्वारा प्रकाशित राष्ट्रीय लघु कथा संग्रह ‘दमकते लम्हे’…

लघु कथा ………. फासला

-कमलेश भारतीय -अजी सुनते हो ?-हूं , कहो ।-आपकी बहन का संदेश आया है ।-क्या ?-वही पुराना राग गाया है ।-यानी ?-रक्षाबंधन का त्यौहार आ रहा है । आकर मिल…