• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

विचार

  • Home
  •  दुनिया बुरे लोगों की हिंसा से नहीं, बल्कि अच्छे लोगों की चुप्पी से पीड़ित है

 दुनिया बुरे लोगों की हिंसा से नहीं, बल्कि अच्छे लोगों की चुप्पी से पीड़ित है

नैतिक दुविधा की यह स्थिति एक अधिक महत्वपूर्ण भावना में भी बदल सकती है। यह तब होता है जब कोई व्यक्ति अंतःकरण की आवाज का पालन न करके नैतिक रूप…

ताश के बावन पत्ते और कांग्रेस के कितने अध्यक्ष ,,,?

-कमलेश भारतीय ताश के बावन पत्तेसबके सब हर्जाईमै लुट गया , राम दुहाई ,,, कांग्रेस हाईकमान के साथ यही हो रहा है । सबके सब हर्जाई निकलते जा रहे हैं…

एक अच्छे पड़ोसी बने लेकिन जासूसी न करे

पड़ोसी देशों के रूप में, आपके घर, राज्यों आदि के रूप में हो सकता है। अच्छे पड़ोसी की योग्य गुणवत्ता पड़ोसियों के व्यवहार और कल्याण पर निर्भर करती है। यह…

राहुल बाबा , सच में कांग्रेस जोड़ो !

कमलेश भारतीय राहुल गांधी कन्याकुमारी से भारत जोड़ो यात्रा पर हैं । बहुत जनसमर्थन मिलता भी दिख रहा है लेकिन कांग्रेस इसके बावजूद टूटती जा रही है , बिखरती जा…

चीतों के लिए हिरणों का मरण क्यों ?

-कमलेश भारतीय देश में चीतों के संरक्षण के लिए विदेश से चीते मंगवाये गये और इनका भव्य स्वागत् किया गया -बाकायदा गले में हार डालकर ! अतिथि देवो भवः के…

21 सितंबर – अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस…….केवल प्यार ही घृणा को दूर कर सकता है

एक शांतिपूर्ण वातावरण सामंजस्यपूर्ण जीवन सुनिश्चित करता है और आपसी समझ के लिए मार्ग प्रदान करता है। यह समझ बातचीत, चर्चा, क्रॉस-सांस्कृतिक आदान-प्रदान आदि के माध्यम से शांति को और…

हर जगह वायरल होती निजता, कैसे जियेंगे हम ?

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की एक छात्रा द्वारा अपनी हॉस्टल की साठ से अधिक छात्राओं के नहाते वक्त के न्यूड वीडियो रिकॉर्ड कर अपने पुरुष मित्र को भेजना और फिर उनका दुनिया…

जन्मदिन पर साहिब कबूतर नहीं चीते छोड़ेंगे 

शांति के प्रतीक कबूतरों का स्थान सबसे तेज धावक चीता ले रहा  जंगल में एक ही शेर रहेगा और सबको उसकी मनमर्जी पर चलना होगा 2009 अफ्रीकन चीता लाने का…

हमें सॉफ्ट पुलिसिंग की आवश्यकता क्यों है?

समाज की सेवा व सुरक्षा के लिए व्यवस्थित की गई पुलिस हर जगह अपनी भद्द पिटाती रहती है। इसका मुख्य कारण यही रहा है कि समाज के लोगों, विशेषत: गांवों,…

15 सितंबर: अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस….. कमजोर पड़ते विपक्ष से भारतीय लोकतंत्र खतरे में !

सरकार को आलोचना को सिरे से खारिज करने के बजाय सुनना चाहिए। लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म करने के सुझावों पर एक विचारशील और सम्मानजनक प्रतिक्रिया की आवश्यकता है।  प्रेस और…