सुमन डूंगा : स्पिकमैके से सामाजिक सरोकार तक

– कमलेश भारतीय 

स्पिकमैके में काम कर बहुत खुशी महसूस होती है । खासकर जब बच्चों को कला के साथ जोड पाती हूं कार्यकर्म के माध्यम से पर अब मैं दिव्यांगता और पर्यावरण के लिए भी समय देना चाहती हूं । यह कहना है स्पिकमैके की मीडिया एडवाइजर सुमन डूंगा का । वे दिल्ली में ही पैदा हुईं और दिल्ली में ही रहती हैं । दिल्ली से ही ग्रेजुएशन व हिंदी में एम ए की और रोहतक से बीएड और एमएड । कभी दिल्ली तो कभी काठमांडू तो कभी बनारस में शिक्षण से जुडी रहीं । अलग अलग पदों पर ।

 – स्पिकमैके से कब और कैसे जुडीं ?

– बनारस के जिस स्कूल में वाइस प्रिंसिपल थी तब स्पिकमैके के कार्यक्रम करवाने की जिम्मेदारी मेरी थी । बस । वहीं से जुड गयी । फिर दिल्ली कारपोरेट क्षेत्र में कुछ साल काम किया लेकिन अब पूर्णतया स्पिकमैके को समर्पित । चाहे वालंटियर कह लीजिए । चाहे मीडिया एडवाइजर । बस काम करके खुशी मिलती है । इन दिनों यूपी के कार्यक्रमों की कमान भी मेरे जिम्मे है ।

 – इतने कलाकारों के कार्यक्रम करवाये होंगे । कौन सा कलाकार है जिसके साथ आपको बहुत खुशी मिलती है ?

– बांसुरीवादक हरिप्रसाद चौरसिया जी । जब दिल्ली होते हैं तो अधिकतम समय मैं इनके लिए अर्पित करती हूं । बहुत सरल हैं । सौम्य हैं । इनकी बातों में भी बांसुरी जैसी मधुरता है ।

 – स्पिकमैके को किसने शुरू किया ?

– पद्मश्री डाॅ किरण ने । इंजीनियर रहे लेकिन कला के प्रति समर्पण । वे भी मेरे प्रेरक हैं ।

 – अब और किस क्षेत्र में काम करने का मन है ?

– वैसे तो जब बच्चों को कला से जोडती हूं तो बेहद खुशी मिलती है लेकिन अब दिव्यांगता के लिए भी काम करना चाहती हूं ।

 – इस ओर कैसे ध्यान गया ?

-यूनेस्को की फिल्म फेस्टिवल की ज्यूरी में हूं और दिव्यांगों पर बनी फिल्में देखने को मिलीं तो द्रवित हो गयी और लगा कि इस क्षेत्र में भी काम करना चाहिए । पर्यावरण पर भी । 

– आपके पति क्या रोकते हैं या सहयोग देते हैं ?

– पति रविकांत इंजीनियर होने के बावजेद इमोशनली स्पोर्ट करते हैं । मेरी दोनों बेटियां पारुल और छवि भी सहयोग करती हैं ।

– कभी हिसार आईं हैं स्पिकमैके के लिए ?

– नहीं । वहां डाॅ आर के यादव बहुत वर्षों से बहूत शानदार काम कर रहे हैं । हमारी शुभकामनाएं सुमन डूंगा को ।

आप इस नम्बर पर फोन कर प्रतिक्रिया दे सकते हैं :9899308093

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *