कांग्रेस में एनसीपी के विलय की चर्चा

– कमलेश भारतीय 

इधर चर्चा शुरू हुई है कि कांग्रेस में एनसीपी का विलय हो सकता है । एनसीपी के अध्यक्ष व महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व कृषि मंत्री शरद पवार की इस बारे में राहुल गांधी से मुलाकात हो चुकी है । 

स्मरण रहे कि श्रीमती सोनिया गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद उनके विदेशी मूल का मुद्दा उठाते हुए शरद पवार और पी ए संगमा अलग हो गये थे और एनसीपी का गठन कर लिया था । अब संगमा की बेटी तो भाजपा में है और संगमा इस दुनिया में नहीं हैं । अब प्रफुल्ल पटेल पवार के दाएं हाथ बने हुए हैं । यदि एनसीपी का कांग्रेस में विलय हो जाता है तो कांग्रेस के सांसद सतावन हो जाएंगे और वह विपक्षी नेता के आधिकारिक पद की अधिकारी हो जाएगी । राहुल गांधी विपक्षी नेता की जिम्मेवारी निभाने को तैयार हैं जबकि अध्यक्ष पद पर जायादा दिन नहीं बने रहना चाहते । यह भी चर्चा है कि शरद पवार को राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता बनाया जा सकता है । हो सकता है कि कोई और पद यानी कांग्रेस का अध्यक्ष पद ही दे दिया जाए । 

इधर मानसून सत्र आने ही वाला है और कांग्रेस आज फिर से अहम् बैठक करने जा रही है जिसमें सथभवतः राहुल गांधी को सांसदों का नेता चुन लिया जाए । 

जिस तरह का घटनाक्रम हुआ , उसमें कांग्रेस व एनसीपी का विलय एक अच्छी खबर हो सकती है । इससे महाराष्ट्र में भी कांग्रेस मजबूत होगी । कांग्रेस को आप के साथ समझौते की तरह समय न गंवा कर इस विलय को सहर्ष स्वीकार कर लेना चाहिए । देर से बहुत सारे किंतु परंतु लग जाते हैं और मामला खटाई में पड जाता है । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *