नहीं रहे संघ के वरिष्ठ प्रचारक ओमप्रकाश, शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने निधन पर जताया दुख

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक ओमप्रकाश का निधन हो गया है। वे लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज में भर्ती थे। उन्हें लंग्स में इंफेक्शन की शिकायत थी। बता दें कि ओमप्रकाश पिछले कुछ दिनों से संक्रमण के कारण मेडिकल कॉलेज में भर्ती थे। उन्होंने अपना देह का दान कर रखा था, इसलिए उनका पार्थिव शरीर शाम को मेडिकल कॉलेज को सौंपा जाएगा।

ओमप्रकाश का जन्म हरियाणा के पलवल जिले में साल 1927 में हुआ खा। उनकी शिक्षा-दीक्षा मथुरा में हुई। साल 1947 में वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक बने। वे अतरौली (अलीगढ़) के तहसील प्रचारक रहे।उसके बाद 1957 से 67 तक बिजनौर के जिला प्रचारक रहे। फिर बरेली के जिला प्रचारक होकर मुरादाबाद एवं कुमाऊं विभाग प्रचारक 1978 तक रहे।1978 से पश्चिम उत्तर प्रदेश के प्रांत प्रचारक रहे। तब उत्तर प्रदेश में केवल दो ही प्रांत थे। इसके बाद वे उत्तर प्रदेश के क्षेत्र प्रचारक और फिर संयुक्त क्षेत्र प्रचारक रहे। ओमप्रकाश राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भी रहे।

आपने क्षेत्र प्रचारक रहते लखनऊ में विश्व संवाद केंद्र भवन, पीजीआई के निकट माधव सेवा आश्रम एवं मथुरा में पं. दीनदयाल धाम का निर्माण कराया।वहीं, वरिष्ठ संघ प्रचारक ओमप्रकाश के निधन पे  शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने गहरा शोक व्यक्त किया है। 95 वर्ष के ओमप्रकाश संघ के वरिष्ठतम प्रचारकों में से थे। गौ सेवा में उनका विशेष लगाव रहा। उन्होंने ! लोकभारती आदि संगठनों की स्थापना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *