उन्नाव कांड पर मन की बात कौन करेगा ?

– कमलेश भारतीय

उन्नाव कांड पर बहुत आश्चर्यजनक तथ्य सामने आए हैं । बार बार कम से कम तीस चिट्ठियां रेप पीडिता ने प्रशासन व सरकार को लिखीं और किसी ने भी दबंग विधायक के प्रभाव के चलते इन पर कोई कार्यवाही करने की जहमत नहीं उठाई । यह हे कानून व्यवस्था का हाल यूपी का । योगी जी अगर सुन रहे हों तो । स्मृति ईरानी का बयान बडा शर्मनाक आया कि भाजपा विधायक को फंसाया जा रहा है । जिसने मैं तुलसी तेरे आंगन की बन कर काम किया हो , जिसने अमेठी को भाजपा का गढ बनाने की ठानी हो , वह ऐसी बात कहे ? 

सुप्रीम कोर्ट ने भी पूछा है कि यह सब क्यों हुआ ? आखिर सब सूत्र और कडियां फतेहपुर से जाकर कैसे जुड रही हैं ? ट्रक फतेहपुर का , ड्राइवर फतेहपुर का और सारा निर्देश जेल से विधायक की ओर से । पुलिस कर्मचारी जो सुरक्षा के लिए दिया गया रेप पीडिता को , वह सारी संचनाएं दे रहा है विधायक को कि य रेप पीडिता क्या क्या कर रही है ? यह है सुरक्षा या सीआईडी ? ऐसे में कौन ऐतबार करे प्रशासन या पुलिस का ? ये रक्षक हैं ? ऐसे रक्षक हैं? 

आखिर एक रेप पीडिता कैसे अपनी आवाज उठाए ? उसके परिवार को ही लगभग खत्म कर दिया गया । कौन दूसरी ऐसी पीडिता या उसका परिवार आवाज उठा सकेगा ? क्या वह और उसका वकील जिंदा बचेंगे भी या ,,,? बहुत सारे सवाल हैं ।

सोशल मीडिया पर लोगों ने फूलन देवी की तस्वीर पोस्ट कर लिखा है कि  क्या कोई बेटी इंसाफ न मिलने पर फिर फूलन देवी बनेगी ? 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *