नगर निगम गुरूग्राम द्वारा करवाया जा रहा है संपत्तिकर सर्वे

–    सर्वे में सही जानकारी देकर ठीक करवाएं अपना संपत्तिकर
–    याशी कंसलटिंग कंपनी के सर्वेयर घर-घर जाकर करेंगे ऑनलाईन सर्वे
–    संपत्ति मालिक की पहचान और संपत्ति के मालिकाना हक संबंधी दस्तावेज
     सर्वे के दौरान दिखाने हैं जरूरी

गुरूग्राम, 27 जून। नगर निगम गुरूग्राम द्वारा निगम क्षेत्र में स्थित सभी प्रकार के भवनों और खाली प्लाटों का सर्वे करवाया जा रहा है। यह कार्य याशी कंसलटिंग कंपनी के सर्वेयर घर-घर जाकर ऑनलाईन माध्यम से करेंगे। 

नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त विनय सिंह ने बताया कि सरकार की ओर से नगर निगम क्षेत्र में स्थित सभी प्रकार के भवनों और खाली प्लाटों का सर्वे करवाया जा रहा है। निगम क्षेत्र में स्थित सभी संपत्ति मालिकों को इस सर्वे में पूरा सहयोग करना है, ताकि उनकी संपत्ति का अधिकारिक रिकार्ड निगम के पास दर्ज किया जा सके। जब भी आपके घर पर सर्वेयर आए तो आप अपनी संपत्ति की पहचान और संपत्ति के मालिकाना हक संबंधी दस्तावेज उपलब्ध करवाएं, ताकि आपकी संपत्ति से संबंधित सही जानकारी दर्ज हो और आपका सटीक संपत्तिकर रिकार्ड तैयार हो सके।

ये दस्तावेज हैं जरूरी : संपत्ति सर्वे के दौरान जब आपके पास सर्वेयर पहुंचे तो आप संपत्ति मालिक की पहचान के लिए वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राईविंग लाईसैंस या पैन कार्ड में से किसी भी एक की कॉपी उपलब्ध करवाएं। इसी प्रकार संपत्ति की पहचान के लिए बिजली बिल, संपत्ति की रजिस्ट्री सर्वेयर को उपलब्ध करवाएं। सर्वेयर मौके पर ही मोबाइल एप पर इन दस्तावेजों की फोटो लेकर अपलोड करेगा और दस्तावेज आपको वापिस लौटा देगा क्योंकि यह पूरा सर्वे ऑनलाईन किया जा रहा है।

किसी प्रकार का नहीं देना शुल्क : नगर निगम गुरूग्राम द्वारा संपत्ति सर्वे का कार्य जयपुर की कंपनी याशी कंसलटिंग को सौंपा गया है। यह सर्वे बिलकुल नि:शुल्क है तथा इसके लिए किसी प्रकार का शुल्क अदा करने की आवश्यकता नहीं है। अगर कोई व्यक्ति आपसे पैसे मांगता है, तो उसे पैसे ना दें तथा इसके बारे में तुरंत ही नगर निगम को शिकायत करें। 

सही जानकारी देने पर ही स्वीकार होगा फार्म : नगर निगम गुरूग्राम द्वारा करवाई जा रही इस सर्वे में सही जानकारी देने पर ही ऑनलाईन फार्म स्वीकार होगा। अगर आप अपनी संपत्ति के क्षेत्रफल की सही जानकारी नहीं देंगे, तो सर्वेयर मौके पर ही जमीन की पैमाईश करेगा।

एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर वाईएस गुप्ता ने कहा कि सभी संपत्ति मालिक इस सर्वे में सहयोग करें तथा बिना किसी झिझक के सर्वेयर को सही एवं सटीक जानकारी उपलब्ध करवाएं। इससे आपकी संपत्ति का सही रिकार्ड नगर निगम के पास उपलब्ध होगा तथा सही संपत्तिकर बिल तैयार किए जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *