शिक्षा का अधिकार अधिनियम अब 8वीं नहीं 12वीं तक होगा लागू : शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा

अब सरकार नई शिक्षा नीति 2019 के तहत 12वीं तक देगी अनिवार्य शिक्षा
जुलाई में लागू होगी नई शिक्षा नीति 2019
नई शिक्षा नीति 2019 के तहत नो डिटेंशन पॉलिसी को किया जाएगा खत्म : शर्मा
हरियाणा में अध्यापकों के सभी वर्गो के तबादले 30 जून तक होंगे मुक्कमल :
शिक्षा मंत्री

 भिवानी।   हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि नई शिक्षा नीति 2019 के तहत शिक्षा के अधिकार अधिनियम को 8वीं कक्षा से बढ़ाकर 12वीं कक्षा तक किया जाएगा। नई शिक्षा नीति अगले महीने तक देश भर में लागू कर दी जाएगी। यह बात उन्होंने आज भिवानी में र्यकत्ताओं से रुबरु होते हुए कहीं। कार्यकत्र्ताओं ने शिक्षा मंत्री का भिवानी पहुंचने पर फूलमालाओं के साथ स्वागत किया।

 शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि नई शिक्षा नीति 2019 के तहत देश भर में 10 लाख अध्यापकों के पदों को भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश ने भी अपनी शिक्षा नीति में बदलाव कर नैतिक शिक्षा व गीता को पाठ्यक्रम में स्थान दिया। आज हरियाणा प्रदेश के स्कूलों का परिणाम पहले से कही बेहतर है। इसके पीछे पिछले साढ़े चार सालों के दौरान लागू की गई हरियाणा
प्रदेश की शिक्षा नीति है, जिसकी बदौलत बोर्ड परीक्षाओं में राजकीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने प्रथम चार से पांच स्थान हासिल किए हैं।

उन्होंने नो डिटेंशन पॉलिसी यानि बच्चों को फेल न किए जाने की नीति के बारे में बोलते हुए कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा तत्कालीक केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल द्वारा बच्चों को फेल न किए जाने की नीति लागू की थी। इसे अब नई शिक्षा नीति 2019 के तहत समाप्त किया जाएगा,
क्योंकि पुरानी नीति से छात्र-छात्राएं व अध्यापकों को परीक्षा से मुक्त किया गया था। जिससे शिक्षा की गुणवत्ता में शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाने मेें मुश्किलें आ रही थी। शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि नई शिक्षा नीति 2019 के तहत देशभर में 10 लाख अध्यापकों के पद भरे जाएंगे।

हरियाणा सरकार ने भी अब तक पिछले साढ़े चार सालों के दौरान अध्यापकों के पदों को भरा है। वही उन्होंने अध्यापकों की स्थानांतरण नीति के बारे में कहा कि 15 जून से प्रदेश भर के सभी वर्गो के अध्यापकों की तबादलों प्रक्रिया शुरू कर दी गई है तथा इस माह के अंत तक इस प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा। इसके तहत हर उस अध्यापक का तबादला किया जाएगा, जो एक
स्थान पर पिछले 5 साल से कार्यरत्त हैं। हर साल सरकारी स्कूलों को बंद किए जाने के सवाल पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में सरकारी स्कूलों को बंद नही किया जाता, बल्कि रेशनेलाईजेशन पॉलिसी के तहत जिन स्कूलों में छात्रों की संख्या 8-10 के करीब है, उन स्कूलों को अन्य स्कूलों में
समायोजित किया जाता है।

इस अवसर पर साहित्कार वीएम बैचेन ने अपना उपन्यास शिक्षा मंत्री के भेंट किया। इस मौके पर कार्यकत्र्ताओ में उत्साह भरते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कार्यकत्र्ताओं के दम पर उनकी पार्टी ने दस की दस सीटे जीतकर हासिल की है तथा अबकि बार विधानसभा में यह
जीत 70 के पार उतर कर होगी।

इस अवसर पर भाजपा नेता रीतिक वधवा, मुकेश शर्मा आसलवास, मास्टर टेकचंद शर्मा, परमेश्वर शर्मा, चेयरमेन रविन्द्र बापोड़ा, सुनील सरपंच, रमेश देवसर, हरियाणवी कवि वीएम बैचेन, रामलाल, इंद्र सिंह, रमेश जागड़ा, चेयरमेन नरेन्द्र, कपिल बापोड़ा, नरेन्द्र तिगड़ाना, रविंद्र महता सहित अनेक गणमान्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *