पटौदी जूडिशियल कोर्ट के बाहर से हटा पालिका का होर्डिंग

सवाल यह न्याय का मंदिर या फिर पालिका का कूड़ादान. क्या पालिका प्रशासन को लगा डर कोर्ट की फटकार का

फतह सिंह उजाला

गुरुग्राम/पटौदी। पटौदी जूडिशियल कोर्ट के बाहर से हटा पालिका का स्वच्छता संबंधित होर्डिंग आखिरकार हटाना ही पड़ा है। एक दिन पहले ही भारत सारथी के द्वारा यह मुद्दा उठाया गया था कि, कोर्ट के बाहर कोर्ट की दिवार सहित कोर्ट के बोर्ड के साथ में ऐसे होर्डिंग लगाना कितना जायज और गलत है?

बीते कुछ दिनों जो भी पटौदी सब डिवीजन मुख्यालय पर यहां जूडिशियल कोर्ट  3 में पहुंचता , तो एक बार अवश्य ही सोचने के लिए मजबूर हो  जाता कि, यह कोर्ट है या फिर पटौदी पालिका का बनाया हुआ कूड़ादान?

क्यों कि यहां कोर्ट के बोर्ड के पहले पटौदी पालिका का एक होर्डिंग लगाया गया था। जिसे देखने और पढऩे से तो यही लगता रहा  कि, पालिका के द्वारा यहां कोई कूड़ादान बनाया गया है। होर्डिंग पर लिखा था कि, स्वच्छता ही सेवा… प्लास्टिक को कूड़ेदान में डालोगे तभी तो और इसके आगे तीर का निशान  तथा साथ ही सब डिवीजनल जूडिशियल कोर्ट काम्लेक्स पटौदी कोर्ट 3 का बोर्ड लगा था।

इस प्रकार से कोर्ट के बाहर और कोर्ट के बोर्ड के साथ पटौदी पालिका प्रशासन के द्वारा कूड़ा निष्तारण का बोर्ड लगाना कितना न्याय संगत है, यही यहां के एडवोकेट्स में चर्चा सहित पालिका प्रशासन के खिलाफ नाराजगी का कारण बना रहा। एडवोकेट रूप सिंह सैनी के मुताबिक एेसा किया जाना कोर्ट का अपमान से कम नही हो सकता है। पटौदी बार के पूर्व सचिव एडवोकेट सुधीर मुदगिल के मुताबिक , एेसे बोर्ड कोर्ट के बाहर और कोर्ट के नाम के सामने बिलकुल भी और किसी भी प्रकार से नहीं लगाए जाने चाहिये। कोर्ट में लोग इंसाफ और न्याय के लिए आते हैं और पटौदी पालिका ने कोर्ट को ही स्वच्छता अभियान के  प्रचार की आड़ में ऐसा होर्डिंग लगा दिया गया, जिसका अर्थ ही पूरी तरह से अनर्थ में बदल गया।

वहीं अन्य एडवोकेटस की भी प्रतिक्रिया थी कि, यह तो नहीं मालूम कि, क्या पालिका प्रशासन के द्वारा इस प्रकार के होर्डिंग लगाने के लिए कोर्ट से इजाजत भी ली अथवा नहीं ली? लेकिन पालिका पटौदी प्रशासन प्रशासन के द्वारा इस प्रकार से कोर्ट के बाहर और कोर्ट की दिवार पर कोर्ट  के नाम लिखे बोर्ड के पहले कूड़ा निष्तारण/प्लास्टिक को कूड़ेदान में डालने के तीर के निशान के सामने ही कोर्ट के नाम के बोर्ड की तरफ इशारा किया जाना किसी भी नजरिये से जायज नहीं ठहराया जा सकता। पालिका को अपना स्वच्छता अभियान का ही प्रचार सहित लोगों को जागरूक करना ही है तो पालिका के लिए अपने बोर्ड लगाने के लिए और भी बहुत से स्थान सहित जगह उपलब्ध हैं। अब मामला उजागर होने के बाद में पालिका प्रशासन ने बिना देरी किये पटौदी जूडिशियल कोर्ट  3 के बोर्ड के साथ व कोर्ट के बाहर लगे, स्वच्छता ही सेवा… प्लास्टिक को कूड़ेदान में डालोगे लिखे होर्डिंग को हटा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *