मीमांसा मलिक : मीडिया को लोगों का भरोसा जीतना जरूरी

कमलेश भारतीय 

मीडिया को लोगों का भरोसा जीतना बहुत जरूरी है और यह मीडिया को विचार करना है कि लोगों का विश्वास कैसे बनाए रखा जाए । मीडिया का रोल विश्वसनीयता और चौथा स्तम्भ।बने रहना होना चाहिए । यह कहना है जी मीडिया की चर्चित न्यूज प्रेजेंटर मीमांसा मलिक का । मूल रूप से सोनीपत निवासी मीमांसा की प्रारम्भिक शिक्षा होली चाइल्ड स्कूल में हुई और हिंदू गर्ल्ज काॅलेज से प्री मेडिकल से जमा दो तक शिक्षा पाई । ग्रेजुएशन जी वी एम काॅलेज से । यूनिवर्सिटी में सेकेंड पोजीशन रही ।

फिर जनसंचार में हिसार के गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय से दो वर्ष की डिग्री ली । गोल्ड मेडलिस्ट रही ।

 – जी न्यूज में कब आईं ?

– सन् 1999 में । यानी बीस वर्ष हो गये मीडिया में ।

 – एक मीडिया चैनल की एंकर में क्या गुण होने जरूरी हैं ?

– लोगों तक पहुंचना और बात को पहुंचाना । आम आदमी ही सरोकार है खबर का । अब खबर का दायरा बहुत बढ व बदल चुका । आम जीवन से जुडी हर खबर दर्शक चाहता है । खबर को तत्परता , विश्वसनीयता और सही तथ्यों के साथ प्रस्तुत करना बहुत बडा गुण होना चाहिए ।

 – आपका रोल माॅडर एंकर कौन ?

– ऐसा तो कुछ नहीं लेकिन बचपन में टी वी देखती थी तो प्रणव राय बहुत अच्छे लगते थे । अब तो सहयोगियों से भी सीख लेती हूं क्योंकि सीखने की कोई उम्र नहीं होती । कोई अंत भी नहीं होता । –

परिवार से कितना सहयोग मिला ?

– मम्मी कमलेश मलिक व पापा की बहुत देन है । हमें सोनीपत जैसे शहर में भी कभी किसी तरह बांध कर नहीं रखा । पूरा विश्वास जताया हर कदम पर । इसीलिए जब जी मीडिया में आई तब लोग पूछते कहां से ? हरियाणा से और फिर सोनीपत से तो कहते लगते तो नहीं क्योंकि भाषा मंझती चली गयी । हम बहनों की ।

 – आप बहन मेघना की तरह एक्टिंग में क्यों नहीं गयीं ?

– हालांकि काॅलेज यूनिवर्सिटी में डांस और एक्टिंग मैं भी करती थी और मेघना प्रोत्साहित करती थी कि इसी क्षेत्र में आओ पर वह एनएसडी में गयी और मैं मास काॅम में । मेरा एक्टिंग में जाने का इरादा नहीं था । मैं कुछ हट कर करना चाहती थी । जब ग्रेजुएशन कर ली तब कुरूक्षेत्र से कोई प्राध्यापक आए थे । उन्होंने ही नया कोर्स मास काॅम बताया और मैं हिसार पहुंच गयी । 

– जी मीडिया में कैसे आईं ?- विज्ञापन आया था । इंटरव्यू दी और चुनी गयी । हालांकि इसके बाद कभी फिर ऐसा विज्ञापन नहीं देखा ।

 – अभी छह राजनीतिक दलों ने मीडिया चैनलों पर बहस में भाग लेने का बहिष्कार किया है । यह कितना सही कदम है ?

– यह बहुत सही कदम नहीं कहा जा सकता । मीडिया में ही अपनी बात रखोगे । फिर लोगों तक कैसे अपनी बात पहुंचाओगे ? मीडिया को भी अपनी विश्वनीयता बनाए रखने की चुनौती है । इस पर विचार करने की जरूरत है । मीडिया का रोल भी कठघरे में है । सोशल मीडिया और फेक न्यूज भी प्रचलन में हैं । इस तरह स्पष्टता पर सवालिया निशान लग रहा है ।

 – कौन कौन से मुख्य पुरस्कार मिले ?

– हरियाणा गौरव , राजधानी रत्न अवार्ड , करनाल से हीफा अवार्ड और माधव राव सिंधिया पुरस्कार व नारद जयंती पुरस्कार व आधी आबादी सहित अनेक पुरस्कार मिले हैं ।

 – लक्ष्य क्या ?

– हर दिन को सार्थक करूं , और श्रेष्ठ और बेहतर करूं । अपनी अलग पहचान बनाऊं । विश्वास अर्जित करती रहूं ।

 हमारी शुभकामनाएं मीमांसा मलिक को ।

4 thoughts on “मीमांसा मलिक : मीडिया को लोगों का भरोसा जीतना जरूरी

  • 8th June 2019 at 12:57
    Permalink

    VERY GOOD ANCHOR AND NEWS REPESENTER

    Reply
  • 9th June 2019 at 12:57
    Permalink

    हम रोज जीन्यूज पर आपको देखते हैं , जी न्यूज ही खबर की विश्वसनीयता ओर पुष्टि अपने कैमरे से करता है तो ,खबर 100%सत्य ही माना जाता है , क्यों कि साथ में सबूत की नीचे लाइन लिखी होती है |

    Reply
  • 9th June 2019 at 12:57
    Permalink

    Your are awesome madam

    Reply
  • 9th June 2019 at 12:57
    Permalink

    Mimansa ji inspires us to do Something very Different Very Differently….
    Thankyou Bharat Sarathi for this Beautiful Interview.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *