सर्वपल्ली डा. राधामोहन कृष्णनजी को उनकी जयंती पर शत-शत नमन

5 सितम्बर 2019,स्वयंसेवी संस्था ग्रामीण भारत के अध्यक्ष वेदप्रकाश विद्रोही ने सभी शिक्षकों, गुरूजनों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए उन्हे नमन किया। विद्रोही ने शिक्षक दिवस पर भारत के पूर्व राष्ट्रपति, प्रख्यात विद्वान, लेखक, चिंतक सर्वपल्ली डा. राधामोहन कृष्णनजी को उनकी जयंती पर शत-शत नमन किया। इस अवसर पर कपिल यादव, अजय कुमार, अमन यादव, प्रदीप यादव ने भी अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये।

विद्रोही ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति, प्रख्यात विद्वान, लेखक, चिंतक सर्वपल्ली डा. राधामोहन कृष्णनजी ने अपने ज्ञान, प्रतिबद्धता व शैक्षणिक कार्य, लेखन द्वारा पूरी दुनिया में शिक्षकों का मान बढ़ाया। भारत में उन्ही की याद में उनके जन्मदिवस 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। विद्रोही ने कहा कि भारतीय सभ्यता-संस्कृति में जितना मान-सम्मान, महत्व, शिक्षकों व गुरूजनों का रहा है, उतना किसी वर्ग का नही। भारतीय संस्कृति में शिक्षकों को भगवान का दर्जा दिया जाता है, किन्तु आज शिक्षा व शिक्षकों का जो अवमूल्यन, नैतिक पतन हुआ है व शिक्षा मात्र नौकरी पाने व शिक्षण संस्थान धन कमाने के जरिये बन गए है, उन पर आज हम सभी को मिलकर अपना-अपना आत्मविश्लेषण करने की जरूरत है कि फिर से शिक्षकों को भगवान समक्ष आदर मिले, शिक्षण संस्थान व शिक्षा पैसा कमाने का साधन बनने की बजाय फिर से ज्ञान, समाज उत्थान व विकास का माध्यम बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *