• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

सर्व हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ और हरियाणा प्राइवेट स्कूल चिल्ड्रन एंड वेलफेयर ट्रस्ट ने 8वी की बोर्ड परीक्षा लागू करने पर बोर्ड का किया स्वागत

बंटी शर्मा सुनारियां

चंडीगढ़–हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा हरियाणा के सभी स्कूल जिसमे सीबीएसई के साथ साथ हरियाणा में स्थित सभी बोर्ड के स्कूलो के लिए 8वी की बोर्ड परीक्षा लेने पर अंतिम मोहर लगा दी हैं जिसमे वर्तमान सत्र से ही 8वी की बोर्ड परीक्षा ली जाएगी

हरियाणा में अब आठवीं कक्षा की भी बोर्ड की परीक्षाएं करवाने की प्रस्ताव पर सरकार ने मंजूरी दे दी है। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी को पत्र भेजा है। अब इस सत्र से आठवीं की भी बोर्ड की परीक्षाएं होंगी। 25 जून 2020 को सरकार ने इस संबंध में निर्णय ले लिया है।

बता दें कि हरियाणा शिक्षा बोर्ड बीते सत्र से ही हरियाणा में 8वी की बोर्ड परीक्षा लेने की घोषणा की थी लेकिन पिछले सत्र में कोरोना के कारण 8वी की बोर्ड परीक्षा लागू नही कर पाया

अब वर्तमान शैक्षणिक सत्र में आठवीं की बोर्ड परीक्षा लागू कर दी गई हैं

गौरतलब हैं कि हरियाणा शिक्षा बोर्ड वर्ष 2009 तक 8वी की परीक्षाएं लेता था परंतु राईट टू एजुकेशन एक्ट के चलते शिक्षा बोर्ड ने 8वी की बोर्ड परीक्षाएं बन्द कर दी थी जिससे हरियाणा में शिक्षा का स्तर गिरता चला गया क्योकि बच्चो में से परीक्षाओं का भय निकल गया और बच्चो ने पढ़ना छोड़ दिया अब 8वी की बोर्ड परीक्षा लागू होने के बाद शिक्षा के स्तर में भी सुधार होगा

गौर करने योग्य बात हैं कि हरियाणा सरकार की मंजूरी के बाद निदेशक मौलिक शिक्षा पंचकूला द्वारा पत्र क्रमांक -01/02-2019 आरटीआई (1) 25 जून 2020 को एक पत्र जारी किया गया जिसमे हरियाणा निशुल्क एव अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार नियम 2011 में बदलाव करके कक्षा 8वी में बोर्ड परीक्षा लागू करने बारे कहा गया हैं

हरियाणा में 8वी के बोर्ड परीक्षा के फैसले पर सीबीएसई व आईसीएसई स्कूलो ने जताई आपत्ति

सीबीएसई व आईसीएसई बोर्ड के स्कूल संचालकों नाराजगी जताई हैं स्कूल संचालको का कहना है कि सरकार के इस फैसले से काफी दिक्कतें खड़ी होने वाली हैं. इस से बच्चों की पढ़ाई और करियर में अस्थिरता आएगी जिससे पढाई की क्वालिटी में कमी आना तय है. ऐसे में हम इस फैसले का विरोध करते है. इसके साथ ही सीबीएसई स्कूल यूनियन भी इस फैसले पर कड़ा एतराज जता रहे है. यूनियन का कहना है कि जिस बोर्ड में बच्चा पढ़ रहा है उसी को वार्षिक परीक्षा लेने का हक है. ऐसे में शिक्षा विभाग का यह फैसला गैर कानूनी है. यूनियन का कहना है कि हम इसके बारे में सरकार से बातचीत करेंगे अगर जरूरत पड़ी तो कोर्ट का रुख किया जाएगा

वही हरियाणा की प्राइवेट स्कूल यूनियनों ने शिक्षा बोर्ड के इस फैसले का स्वागत किया हैं सर्व हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ के अध्यक्ष नरेंद्र सेठी ओर हरियाणा प्राइवेट स्कूल चिल्ड्रन एंड वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष सुशील नागपाल ने बताया कि सीबीएसई में सीधी 12वी में बोर्ड परीक्षा होने के कारण छात्रो में पढ़ाई के प्रति रुचि खत्म हो गई थी क्योंकि उन्हें परीक्षा में फेल होने का डर नही था अब 8वी में भी बोर्ड परीक्षा लागू होने से शिक्षा के स्तर में सुधार होगा

बच्चों की पढ़ाई की गुणवत्ता बढ़ाना है मुख्य लक्ष्य:-डॉ. जगबीर सिंह, हरियाणा शिक्षा बोर्ड चेयरमैन

इस बारे में हरियाणा स्कूल बोर्ड एजुकेशन के चेयरमैन ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले हरियाणा शिक्षा बोर्ड कक्षा 5, 8,10 ओर 12 के लिए बोर्ड की परीक्षा लेता था. लेकिन उसके बाद शिक्षा का अधिकार नियम लागू होने से सिर्फ 10वी ओर 12वी की परीक्षा होने लगी. लेकिन अब हरियाणा शिक्षा नीति में संशोधन के बाद हरियाणा में सभी बोर्डों के 8वी कक्षा के बच्चों की वार्षिक परीक्षा हरियाणा विद्यालय बोर्ड द्वारा ली जाएगी बच्चों की पढ़ाई की गुणवत्ता बढ़ाना इसका मुख्य लक्ष्य है

  • Facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • Email
  • Print
  • Copy Link
  • More Networks
Copy link
Powered by Social Snap