• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

अशोक कुमार कौशिक

रेवाड़ी । बीते कुछ दिन से दक्षिणी हरियाणा की राजनीति में राव इंद्रजीत सिंह द्वारा किसी मंच से जयचंद के नाम को लेकर राजनीति गरमाई हुई है । अब इस पर हरियाणा राजपूत प्रतिनिधि सभा ने केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह द्वारा रेवाड़ी भाजपा की गुटबाजी में महाराजा जयचंद के नाम का नकारात्मक दृष्टि से इस्तेमाल कर सामाजिक सौहार्द को क्षति पहुंचाने की संज्ञा देकर निंदनीय बताया है । प्रधानमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को प्रेषित मेल में सभा के अध्यक्ष नरेश चौहान एडवोकेट ने आरोप लगाया कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान और महाराजा जयचंद के संबंधों को वामपंथी इतिहासकारों ने गलत ढंग से पेश किया है । सम्राट पृथ्वीराज चौहान की हार के महाराजा जयचंद जिम्मेवार नहीं थे ।

भाजपा के संस्थापकों में अग्रणी रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने स्वयं सार्वजनिक रूप से खुलासा किया हुआ है कि उस हार का पूरा समाज जिम्मेवार था। जिन्होंने अकेले राजपूत सैनिकों पर ही लड़ाई का भार सौंप कर अपने सामूहिक सामाजिक दायित्व का ईमानदारी से निर्वहन नहीं किया । राव इन्द्रजीत सिंह पार्टी के गद्दारों के लिए मीर जाफर का भी नाम ले सकते थे । गुड़गांव लोकसभा क्षेत्र के लगभग 3 लाख मेव मतदाताओं से डर के उन्होंने मीर जाफर की बजाय महाराजा जयचंद को बदनाम करने का कृत्य किया है । राव इंद्रजीत सिंह ने देश भर के लगभग 20 करोड़ विशेष कर अपने हल्के में पड़ने वाले डेढ लाख राजपूत मतदाताओं का निरादर कर अपना व पार्टी का भारी नुकसान किया है ।

सभा राव से अविलंब सार्वजनिक रूप से समस्त समाज से माफी मांग कर अपने वक्तव्य में महाराजा जयचंद की बजाए मीर जाफर का नाम जोड़ने अन्यथा उनके खिलाफ पार्टी व सरकार के स्तर पर कड़ी कार्रवाई की जाने की मांग करती है

  • Facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • Email
  • Print
  • Copy Link
  • More Networks
Copy link
Powered by Social Snap