• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

मंत्री ने कहा ऐतिहासिक होगी रैली ,21 अगस्त को मुख्यमंत्री मनोहरलाल मरुभूमि के रेतीले इलाके व दक्षिण हरियाणा को देंगे बड़ी सौगात
मुख्यमंत्री महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय के रीजनल अनुसंधान केंद्र की रखेंगे आधारशिला,
मुख्यमंत्री लुवास विश्वविद्यालय हिसार के 9 करोड़ की लागत से बहल के पशु विज्ञान केंद्र तथा 36 करोड़ रुपए की लागत से सोरा डिस्ट्रीब्यूट्री के जीर्णोद्धार का भी करेंगे शिलान्यास: कृषि मंत्री जेपी दलाल

लोहारू,19 अगस्त। प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने ढिगावा खरकड़ी में आयोजित होने वाली रैली स्थल का दौरा किया और तैयारियों का लिया जायजा। उन्होंने अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश और कहा यह ऐतिहासिक होगी रैली।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल 21 अगस्त को मरुभूमि के रेतीले इलाके व दक्षिण हरियाणा को बड़ी सौगात देंगे। कृषि मंत्री कहा कि मुख्यमंत्री महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय के रीजनल अनुसंधान केंद्र की रखेंगे आधारशिला और मुख्यमंत्री लुवास विश्वविद्यालय हिसार के 9 करोड़ की लागत से बहल के पशु विज्ञान केंद्र तथा 36 करोड़ रुपए की लागत से सोरा डिस्ट्रीब्यूट्री के जीर्णोद्धार के कार्य का भी शिलान्यास करेंगे ।दक्षिण हरियाणा के लिए अनुपम सौगात होगी क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र। कृषि मंत्री ने कहा कि कार्यक्रम में आने वाले लोगों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए इसके लिए पुख्ता प्रबंध किए जाएं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को पेयजल व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, वाहनों की पार्किंग व्यवस्था आदि के लिए समुचित प्रबंध करने के निर्देश दिए। उन्होने महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय के विस्तार निदेशक डॉ एसके यादव से बातचीत कर जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए।

उन्होंने बिजली, पानी , विकास एवं पंचायत ,लोक निर्माण विभाग, वन आदि विभागों को अपने-अपने विभाग से संबंधित कार्य समय रहते पूरा करने के निर्देश दिए।

करोड़ों रुपए की लागत से 120 एकड़ में बनने वाला यह रीजनल रिसर्च सेंटर दक्षिणी हरियाणा के किसानों के लिए वरदान साबित होगा। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जेपी दलाल ने आज ढिगावा के विश्राम गृह में कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद पत्रकार वार्ता में यह बात कही। उन्होंने कहा कि 21 तारीख को होने वाले समारोह में मुख्यमंत्री के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़, पूर्व शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा, विधायक सोमबीर सांगवान सहित अनेक मंत्री,विधायक,गणमान्य नेता, बागवानी विश्वविद्यालय के अधिकारी मौजूद रहेंगे।

जेपी दलाल ने बताया कि इस क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र के लिए हरियाणा सरकार 50 करोड़ की राशि दे चुकी है। इस रीजनल सेंटर में बागवानी की फसलों के लिए शोध किए जाएंगे तथा यहां के युवाओं को इस यूनिवर्सिटी में पढ़ने का अवसर प्राप्त होगा। लोहारू, बाढड़ा, भिवानी, सतनाली, दादरी सहित दक्षिण हरियाणा के क्षेत्र के युवाओं को यहां उच्च शिक्षा के नए अवसर प्राप्त होंगे व किसानों को बागवानी की नई नई किस्में और तकनीक सीखने को मिलेंगी। उन्होंने कहा कि दक्षिणी हरियाणा में अधिकांश लोगों का जीवन खेती पर निर्भर है। अब समय आ गया है कि हम परंपरागत खेती को छोड़कर बागवानी मछली पालन, पशुपालन आदि को अपनाएं। इस लिहाज से गांव खरखड़ी ढिगावा में बनने वाला बागवानी विश्वविद्यालय का क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र किसानों के लिए उपयोगी साबित होगा। उन्होंने बाढ़ड़ा क्षेत्र के लोगों से 21 अगस्त रविवार को अधिक से अधिक संख्या में गांव खरखड़ी ढिगावा पहुंचने का आह्वान किया।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि हरियाणा सरकार ने गौवंश को बचाने के लिए लैंपी स्किन बीमारी का ईलाज गंभीरता से शुरू कर दिया है। सभी पशु चिकित्सकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे बिना किसी अवकाश के लंपी बीमारी को रोकने के लिए वैक्सीनेशन का कार्य जारी रखें।

इस बीमारी से प्रदेश में निजात के लिए कृषि व पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ढिगावा के विश्राम गृह में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से भी वर्चुअल रूप से जुड़े और मुख्यमंत्री को प्रदेश में विभाग द्वारा किए जा रहे प्रयासों व कार्यो से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि पशु अस्पतालों में इस बीमारी का उपचार करने की वैक्सीन भिजवाई जा रही है। उन्होंने पशुपालकों से भी अनुरोध किया कि वे अपने पशुओं में संक्रमण होने से रोकें। कोई पशु बीमार हो जाता है तो उसे अन्य पशुओं से अलग रखा जाए। पशुओं का स्थान साफ सुथरा होना चाहिए। मक्खी मच्छरों से बचाव के लिए उन पर मच्छरदानी का कवर लगाया जाए। उन्होंने कहा कि जिन पशुपालकों के पास गाय, बछड़ा, बैल आदि हैं, वे इस वैक्सीन को अवश्य लगवाएं।

  • Facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • Email
  • Print
  • Copy Link
  • More Networks
Copy link
Powered by Social Snap