• Thu. Dec 8th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

बेटियों को पढ़ाने के साथ आत्मनिर्भर बनाना जरूरी : गीता भारती

कमलेश भारतीय

बेटियों को पढ़ाने के साथ साथ उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम करना जरूरी है । यह कहना है हिसार मंडल की मंडलायुक्त गीता भारती का ! अभी कुछ समय पहले ही उन्होंने यह कार्यभार संभाला है । मूल रूप से किरड़ान (जिला फतेहाबाद) निवासी गीता भारती की पढ़ाई लिखाई हिसार में हुई क्योंकि इनके पिता सिंचाई विभाग में हिसार में ही कार्यरत थे ।

-मैट्रिक कहां से ?
-जाट हाई स्कूल , हिसार ।

-ग्रैजुएशन ?
-गवर्नमेंट काॅलेज, हिसार से और एम ए राजनीतिशास्त्र भी इसी काॅलेज से !

मंडलायुक्त गीता भारती

-कोई और पढ़ाई?
-एल एल वी की लेकिन नौकरी के दौरान ।

-सिविल सर्विस में आने का विचार कैसे आया ?
-हमारे समय में हिसार की बेटी सुरीला राजन् आईएएस चुनी गयी थीं । बस । उन्हीं से प्रेरणा मिली कि मैं भी ऐसी ही बनूं ! वैसे मेरे पिता जी मेडिकल करवा कर डाॅक्टर बनाने के इच्छुक थे ! पर मैंने बदल लिया इरादा !

-कब आये आप सिविल सर्विस में ?
-सन् 1992 में ।

-कहां कहां रहीं आप ?
-पहली पोस्टिंग अम्बाला में एसडीएम के तौर पर । फिर कैथल , सिवानी , पंचकूला , हिसार और सिरसा में । करनाल व होडल भी रही । यमुनानगर व करनाल में एडीसी । फिर सचिवालय , चंडीगढ़ में अनेक विभागों में । अब हिसार मे मंडलायुक्त के पद पर !

-क्या कोई और जाॅब भी की ?
-सिविल सर्विस में आने से पहले एक साल स्कूल में लैक्चरर रही ।

-महिलाओं की स्थिति पर क्या कहेंगीं?
-बेटियों को पढ़ाना जितना जरूरी है , उससे भी ज्यादा उन्हें आत्मनिर्भर बनाना जरूरी है ! नारी में इतनी सामर्थ्य है कि जिसे अवसर मिला , उसी ने आसमान छू लिया !

-कोई पुरस्कार /सम्मान ?
-प्रशासन की ओर से समय समय पर अनेक प्रशंसापत्र मिलते रहे !

-क्या क्या शौक हैं आपके ?
-कुछ कुछ अपनी प्यारी सी यादें लिखती रहती हूं । धार्मिक व प्राकृतिक स्थानों पर घूमने का व संगीत सुनने का शौक है !
-परिवार के बारे में कुछ बताइए ?

-पति डाॅ महेंद्र सिंह एसएमओ पद से सेवानिवृत्त । इन दिनों कंसल्टेंट हैं । बेटी रिजुल एल एल एम और बेटा भी टैक कम्प्यूटर कर रहा है पटियाला के थापर इंजीनियरिंग संस्थान से ।

-लक्ष्य ?
-सरकारी सेवा के साथ साथ समाजसेवा करती रहूं ।-
हमारी शुभकामनाएं गीता भारती को !

  • Facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • More Networks
Copy link
Powered by Social Snap