• Tue. Dec 7th, 2021

Bharat Sarathi

A Complete News Website

चरखी दादरी जयवीर फोगाट

 24 अक्तूबर,संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आज रविवार 24 अक्तूबर को कितलाना टोल व दादरी से सैकड़ों किसान टिकरी बार्डर पहुंचे। लखीमपुर खीरी हत्या कांड के पांच शहीद किसानों के अस्थि कलश विभिन्न प्रदेशों की यात्रा करवाते हुए ले जाए गए हैं। अपने शहीदों की कुर्बानी से प्रेरणा लेकर अब किसान आन्दोलन को और ज्यादा मजबूत किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए कितलाना टोल जत्थे का नेतृत्व कर रहे किसान नेताओं ने दी।

न्होंने कहा कि केन्द्र सरकार बातचीत करके इस आन्दोलन का समाधान नहीं निकाल रही है, जबकि 750 किसान शहीद हो चुके हैं। 11 महिने से किसान रोड़ों पर बैठने के लिए मजबूर हैं, फिर भी सरकार हठधर्मिता अपनाकर आन्दोलन को कमजोर करने पर उतारू है, उसमें फूट डालकर बदनाम करके खत्म करवाना चाहती है, इसके लिए तरह तरह के ओच्छे हथकण्डे अपना रही है।

 उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार बड़े बड़े कारपोरेट के हाथों में खेलकर किसानों, मजदूरों व आम जनता के हकों के विरुद्ध कानून बना रही है और देश की बहुमूल्य सम्पतियों को कोड़ी के भाव बेचा जा रहा है। उन्होंने कहा कि भयंकर मंहगाई, खाद संकट, बर्बाद फसलों ने किसानों एवं आम जनता की कमर तोड़ कर रख दी है और भाजपा नेता व मन्त्री घमन्ड में चूर होकर जनता के हितों की उपेक्षा कर रहे हैं। 

उन्होंने जानकारी दी कि 26 अक्तूबर को दादरी भिवानी में किसानों का भारी प्रदर्शन होगा, जिसमें केन्द्रीय गृह राज्य मन्त्री को बर्खास्त करने, उन्हें गिरफ्तार करने की मांग के साथ किसानों की स्थानीय समस्याएं भी प्रशासन के सामने उठाई जांएगी। इस जत्थे में पूर्व संसदीय सचिव रणसिंह मान, नरसिंह सांगवान डीपीई, सुरजभान झोजू, सुरेन्द्र कुब्जा नगर, आजाद सिंह फौजी, स्योनारायण मानकावास, रामानन्द धानक, शमशेर सांगवान, नन्दराम अटेला, बलबीर रासीवास, सरदारा राम डोहकी, शब्बीर हुसैन, सुरेश सांगवान, प्रेमसिंह थानेदार इत्यादि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy link
Powered by Social Snap