• Thu. Sep 29th, 2022

Bharat Sarathi

A Complete News Website

शैक्षणिक समस्याओं पर प्रदेशभर में दिए गए ज्ञापन, शैक्षणिक समस्याओं के हल न होने पर आंदोलन की धमकी

गुरुग्राम – अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) हरियाणा ने गुरुवार को प्रदेशभर में जिला केंद्र पर शैक्षणिक समस्याओं को लेकर शिक्षा मंत्री श्री कंवरपाल सिंह के नाम ज्ञापन सौंपा। गुरुग्राम में जिला संयोजक आशीष राजपूत, नगर सहमंत्री हर्ष, लोकेश, चारु के एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुग्राम नगर इकाई की तरफ से एसडीएम श्रीमती अंकिता चौधरी को ज्ञापन सौंपा। 

नगर सह मंत्री हर्ष ने बताया कि हरियाणा की शैक्षणिक समस्याओं को लेकर दिए गए ज्ञापन में सात सूत्रीय मांगों को शामिल किया गया है।

1. महाविद्यालयों, विश्वविद्यालय में रिक्त पड़े टीचिंग व नॉन टीचिंग स्थानों को तुरन्त भरा जाए।

2. राज्य में प्रत्यक्ष रूप से छात्र संघ चुनाव कराए जाएं।

3. राज्य में समय पर छात्रवृत्ति दी जाए ताकि विधार्थी समय रहते अपनी आवश्कता की सामग्री खरीद सके।

4. सभी विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों में प्लेसमेंट सेल स्थापित की जाए व जहाँ है वहाँ सैल की व्यवस्था प्रभावी रूप से चलाई जाए।

5. लॉकडाउन के दौरान बंद हुई महिलाओं के लिए पिंक बस सुविधा को पुनः पूरे प्रदेश में शुरू किया जाए।

6. डाइट में पुन: D.Ed कोर्स शुरू किए जाएं और जिस उद्देश्य से डाइट की स्थापना हुई थी उसे पूर्ण किया जाए।

7. योजना में खामी व कई बिंदुओं पर विमर्श करने पर मिले परिणाम के आधार पर अभाविप मांग करती है कि चिराग योजना को बंद किया जाए

छात्रा चारु ने बताया कि एबीवीपी ने इन्ही समस्याओं को लेकर महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी जल्द हल करने का आग्रह सरकार से किया था। प्रान्त मंत्री माधव रावत ने कहा है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हरियाणा, प्रदेश सरकार को इस ज्ञापन के माध्यम से आगाह करती है कि अगर छात्रों की उपरोक्त मांगो को नही माना जाता है तो एबीवीपी पूरे प्रदेश मे आंदोलन करेगा और इसकी पूर्ण जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी |

  • Facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • Email
  • Print
  • Copy Link
  • More Networks
Copy link
Powered by Social Snap